Breaking News
Home / नगरे / प्रयाग / छठ के बाद गंदगी और प्रदूषण से पटे गंगा यमुना घाटो की मुस्लिम समाज ने सफाई कर पेश की मिसाल

छठ के बाद गंदगी और प्रदूषण से पटे गंगा यमुना घाटो की मुस्लिम समाज ने सफाई कर पेश की मिसाल

संगम तट पर सफाई करते हिन्दू और मुस्लिम समुदाय के लोग

 

इलाहाबाद : छठ का पर्व गुजर गया और नदियों के किनारे इलाहाबाद के संगम तट में जमा हुए दस लाख से अधिक श्रधालुओ ने अपनी पूजा भी पूरी कर ली लेकिन पूजा के बाद घाटो में पसरी गंदगी और प्रदूषण को लेकर न प्रशासन के लोग जागे और न साधू संत ही | ऐसे में इलाहाबाद में मुस्लिम समाज के लोगो ने खुद ही अपने हाथो में झाड़ू और डलिया उठाकर संगम के घाटो की सफाई कर हिन्दू मुस्लिम भाईचारे की एक नजीर पेश की है | उनके इस नेक मिशन में कई और धर्म के लोगो ने भी अपनी भागेदारी दी है |
सूर्य उपासना के महापर्व छठ का समापन पूरे देश में हो गया | संगम नगरी इलाहाबाद के त्रिवेणी के तट पर भी इस बार श्रद्धालुओ का ऐसा सैलाब उमड़ा की त्रिवेणी का तट व्रतियो से भर गए | छठ पर्व के गुजर जाने के बाद घाटों में हर तरफ गन्दगी और प्रदूषण ही प्रदूषण फ़ैल गया | पर्व की शुरुआत के पहले राष्ट्रीय स्वच्छता मिशन के दावे करने वाली कोई सरकारी एजेंसी या सरकारी अमला जब सामने नहीं आया तब इलाहाबाद के मुस्लिम भाइयो ने ही गंगा यमुना के इन गंदे घाटो की सफाई के लिए हाथो में झाड़ू उठा लिए |
हिन्दुओ के पर्व  में नदियों के घाटो में छठ के बाद फ़ैली  गन्दगी को मुस्लिम भाइयो द्वारा साफ करते देख दुसरे मज़हब के लोग भी मुस्लिम भाइयो के साथ जुड़ गए |  देखते ही देखते ही घाटो में सभी मज़हब के लोग स्वच्छता की अलख जगाने घाटो में जमा हो गए |  इस मौके पर तश्वीरे खिचवाने के लिए आये दिनों नदियों के किनारे जमा होने वाली एनजीओ जहा दूर दूर तक नज़र नहीं आई वहीं राष्ट्रीय स्वच्छता मिशन का आये दिनों जाप करने वाली सरकारी एजेसियाँ भी यहाँ से नदारद थी | इन सबके बावजूद यहाँ सभी मज़हब के लोगो का सफाई का यह ज़ज्बा जन सहभागिता की नजीर लेकर सामने आया |

About Abhishek Tiwari

Check Also

ट्रेन रोककर फ़िल्म पद्मावती का विरोध

  इलाहाबाद : संजय लीला भंसाली की विवादित फिल्म पद्मावती का विरोध जोर पकड़ता जा रहा …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: