Breaking News
Home / नगरे / अवध / अयोध्या में राम मंदिर निर्माण मामले में अखाड़ा और शिया वक्फ बोर्ड की बैठक

अयोध्या में राम मंदिर निर्माण मामले में अखाड़ा और शिया वक्फ बोर्ड की बैठक

 

इलाहाबाद : अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए बात चीत का दौर जारी है कल अयोध्या में अखाडा परिषद के अध्यक्ष और बाबरी मस्जिद के मुददई और शिया वक्फ बोर्ड के चेयर मैंन वसीम रिज़वी के साथ बैठक की जिसमे तमाम आपत्तियों पर बात की गयी और आज इलाहबाद में शिया वक्फ बोर्ड के चेयरमैंन वसीम रिज़वी ने अखाड़ा परिषद् के अध्यक्ष स्वामी नरेंद्र गिरी से मुलाकात की। दोनों की ये मीटिंग करीब २० मिनट तक चली बैठक मे दोनों पक्षों ने इस बात पर सहमति जताई की आम राय से अयोध्या में मंदिर निर्माण होना चाहिए। इस बैठक में वसीम रिज़वी ने कहा की सुन्नी वक्फ बोर्ड का मस्जिद पर कोई अधिकार नहीं है इसलिए उनसे बात करने का कोई औचित्य नहीं है जगह हमारी है तो हम क्यों बात करे।

वसीम रिजवी के अनुसार मामला पर बातचीत अपने आखिरी चरण में है अब हम इस बात पर चर्चा करेंगे की सुप्रीम कोर्ट में हलफनामा दाखिल करना है उसमें क्या क्या करना है और क्या समझौता नामा दाखिल होगा इस विषय पर बात होनी है। वसीम रिज़वी के मुताबिक बाबरी विध्वंश की घटना भी सुन्नी वक्फ बोर्ड की हट धारिमता के कारण हुई और 1944 में ही सुन्नी वक्फ बोर्ड का में रजिस्ट्रेशन हुआ था जो हाईकोर्ट और सुप्रीम कोर्ट से खारिज हो चूका है जो कोर्ट को बताया भी गया है वसीम रिज़वी के मुताबिक रामजन्म भूमि पर ही मंदिर बनना चाहिए मुस्लिम आबादी में मस्जिद कही भी बनाई जाये। और सुन्नी वक्फ बोर्ड बेवजह अड़ा हुआ है। अखाडा परिषद् के अध्यक्ष नरेंद्र गिरी का कहना है की बैठक में जो नतीजे अब तक आये है उस पर हस्ताक्षर करके कोर्ट में दाखिल किया जायेगा। 

वसीम रिजवी का कहना हैं कि इस मुद्दे पर बहुत लंबे समय से विवाद चल रहा है जिसे वह खत्म करना चाहते हैं और वह आखिरी पड़ाव में है वह नहीं चाहते इस मामले को और उलझाया जाए और सर्वोच्च न्यायालय ने इसे आपसी सहमति से जाने का अवसर दिया है उसे हम खोना नहीं चाहते हम चाहते हैं कि आपसी सहमति से राम जन्म भूमि पर राम मंदिर का निर्माण हो।

About Abhishek Tiwari

Check Also

हाईकोर्ट ने तत्कालीन दो डीएम को निलम्बित कर विभागीय कार्रवाई के साथ तलब की रिपोर्ट, हाईकोर्ट के आदेश को दरकिनार कर दिया गया था खनन का लाइसेंस

  इलाहाबाद – इलाहाबाद उच्च न्यायालय ने रोक के बावजूद रामपुर में कोशी नदी से अवैध …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: