Breaking News
Home / नगरे / अवध / श्रीमती सोनिया गांधी के बाद कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ही अध्यक्ष बन सकते हैं – योगी

श्रीमती सोनिया गांधी के बाद कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ही अध्यक्ष बन सकते हैं – योगी

श्रीन्यूज़।लखनऊ।मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा किसी भी वंशवादी पार्टी से क्या उम्मीद की जा सकती है, कि वह किसी और को दावेदार बनाएगी। गोरखनाथ मंदिर में पत्रकारों से बात करते हुये कहा की कांग्रेस जिस वंशवादी पार्टी का प्रतिनिधित्व कर रही है, उसमें श्रीमती सोनिया गांधी के बाद कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ही अध्यक्ष बन सकते हैं। इसमें ढोल पीटने जैसी कोई बात नहीं है।राहुल के नेतृत्व में कांग्रेस का भविष्य क्या होगा इस पर योगी आदित्यनाथ ने कहा कि राहुल गांधी के बनने से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा 2014 में शुरू किया गया कांग्रेस मुक्त अभियान और आसान होगा।संभावना है कि कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी 4 दिसंबर को सर्वानुमति से पार्टी अध्यक्ष चुन लिए जाएंगे। सोमवार को कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के आवास 10 जनपथ पर हुई कांग्रेस कार्यसमिति की बैठक में कांग्रेस अध्यक्ष पद के लिए होने वाले चुनाव के कार्यक्रम की घोषणा कर दी गई हैं उधर आप को बता दे कि कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी की अध्यक्षता में सीडब्ल्यूसी (कांग्रेस कार्य समिति) की बैठक में नए कांग्रेस अध्यक्ष के चयन की प्रक्रिया शुरू करने का सर्व सम्मिति बन चुकी हैं सीडब्ल्यूसी की सिफारिश के आधार पर केंद्रीय चुनाव प्राधिकरण के अध्यक्ष एम रामचंद्रन ने प्रक्रिया शुरू कर दी है। इस चुनाव प्रक्रिया के आधार पर पांच दिसंबर तक राहुल गांधी के निर्विरोध अध्यक्ष चुन लिए जाने की उम्मीद है।कांग्रेस के केंद्रीय चुनाव प्राधिकरण की ओर से जारी कार्यक्रम के अनुसार एक दिसंबर को इसकी अधिसूचना जारी कर दी जाएगी चार दिसंबर को शाम तीन बजे तक अध्यक्ष पद के लिए नामांकन दाखिल किया जा सकेंगा।दाखिला नामांकन की वापसी तथा स्क्रूटनी के लिए पांच दिसंबर की तारीख तय की गई है। एक से अधिक नामांकन आने की दशा में 11 दिसंबर सायं तीन बजे तक अभ्यर्थी अपना नाम वापस ले सकते हैं। इसके बाद 11 दिसंबर को चार बजे तक कांग्रेस अध्यक्ष पद के चुनाव लड़ने के इच्छुक प्रत्याशियों की सूची जारी हो जाएगी। जरूरी होने पर 16 दिसंबर को मतदान तथा 19 दिसंबर को मतों की गणना किए जाने का कार्यक्रम है।सूत्र कि माने तो पार्टी के नए, पुराने सभी नेता एक सुर से राहुल गांधी को अध्यक्ष बनाना चाहते हैं। ऐसे में राहुल गांधी के विरुद्ध किसी कांग्रेस सदस्य के खड़े होने के बिल्कुल भी आसार नहीं नजर आ रहे हैं। हालांकि राहुल गांधी चाहते हैं कि बाकायदा चुनाव हो, यदि कोई साथी चुनाव लड़ने का इच्छुक हो तो वह नामांकन करे और निष्पक्ष तरीके से इसकी प्रक्रिया के बाद अध्यक्ष चुना लिया जाए ।

About desh deepak"rahul"

Check Also

नए विद्यार्थियों से नही लिया जाएगा अनाप सनाप शुल्क -उप मुख्यमंत्री डॉ दिनेश शर्मा

श्रीन्यूज।लखनऊ।उत्तर प्रदेश सरकार के उप मुख्यमंत्री डॉक्टर दिनेश शर्मा जी ने पत्रकारों को संबोधित करते …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: