Breaking News
Home / नगरे / अवध / लखनऊ भी नही रहा जहरीली हवा से अछूता…दूषित 6 शहरों में लखनऊ भी शामिल ।

लखनऊ भी नही रहा जहरीली हवा से अछूता…दूषित 6 शहरों में लखनऊ भी शामिल ।

श्रीन्यूज़.कॉम।लखनऊ।इससे पहले यूपी के कई शहरों में धुंध के कारण दृश्यता कम हो गई और वाहन आपस में टकरा गए। वातावरण में छाई जहरीली धुंध जहां दमा रोगियों की परेशानी बढ़ा रही है। पिछले दो दिन से धुंध ने सड़कों पर चलना मुश्किल कर दिया है। मंगलवार को जहां हाईवे-24 पर कई वाहन टकराए थे, वहीं बुधवार की शाम फिर से धुंध ने शहर समेत जनपद को ढक लिया। शाम होते ही वाहनों की लाइटें जल गईं और हाईवे पर दिखाई देना भारी हो गया। थोड़ी दूर जाने में ही घंटों लग गए तथा वाहन एक दूसरे के पीछे धीमी रफ्तार से चलने शुरू हो गए। देर शाम को आई धुंध सड़क पर लोगों के लिए मुसीबत बनकर आई क्योंकि सुबह चार बजे थाना देहात अंतर्गत दिल्ली-लखनऊ बाईपास पर दिखाई न देने के कारण दिल्ली की तरफ से जा रहे वाहन आपस में टकरा गए। एक दूसरे के पीछे आ रहे वाहन आपस में टकराते चले गए और 12 वाहन आपस में भिड़ गए, जिसमें बरेली डिपो की बस समेत कार तथा भारी वाहन भी थे। आपस में वाहनों के टकराने से हाईवे-24 पर लंबा जाम लग गया जबकि ज्यादा धुंध होने के कारण पुलिस भी एक घंटे में मौके पर पहुंच पाई। वाहनों को वहां से हटाया गया। इस टक्कर में रोडवेज चालक समेत छह लोग घायल हो गए। घायलों को स्थानीय नर्सिंग होम में भर्ती कराया गया है।उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में भी दिल्ली जैसी जहरीली हवा का अनुभव लोगों को हो रहा है। लखनऊ का एयर क्वॉलिटी इंडेक्स (एक्यूआई) देश की राजधानी दिल्ली के एक्यूआई से मात्र 18 यूनिट नीचे रहा। दिल्ली में जहां 486 एक्यूआई रेकॉर्ड किया गया, वहीं लखनऊ का एक्यूआई 468 रहा। एक्यूआई के 500 पहुंचने पर ये स्वास्थ्य के लिहाज से आपातकालीन स्थिति होती है।केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के आंकड़ों में लखनऊ देश के 6 सबसे ज्यादा प्रदूषित शहरों में से एक हो गया है। दिल्ली और लखनऊ दोनों ही शहरों में प्रदूषण करने वाले पीएम 2.5 और पीएम 10 की सघनता हो गई है। पीएम 2.5 की सघनता सीमा से सात गुना ज्यादा रहा। यह स्वास्थ्य के लिए बहुत हानिकारक हो सकता है।उत्तर भारत में भी धुंध लोगों के लिए जी का जंजाल बन गई है। ठंड की दस्तक तो हो गई है, लेकिन प्रदूषण के साथ हुई है। यूपी की राजधानी लखनऊ की हवा इतनी जहरीली हो गई है कि लखनऊ को एयर पॉल्यूशन के मामले में सातवें नंबर पर रख लिया गया है।पिछले दो दिनों से लखनऊ में प्रदूषण का स्तर बढ़ गया है। एयर क्वॉलिटी इंडेक्स की रिपोर्ट के मुताबिक, लखनऊ में प्रदूषण का लेवल 430 माइक्रोग्राम हो गया है। लोगों को सांस लेने में बहुत परेशानी हो रही है। मास्क भी काम नहीं कर रहे हैं। लखनऊ में दो दिनों से धूप नहीं दिख रही है, ये केवल कोहरे की वजह से नहीं है, बल्कि इसका असली कारण प्रदूषण है।

About desh deepak"rahul"

Check Also

बिजली विभाग ने चलाया सघन चेकिंग अभियान ।

श्रीन्यूज़.कॉम ।उन्नाव।आज सोहरामऊ कस्बे में बिजलीविभाग के अधिकारियों ने घोर चेकिंग अभियान चलाकर लगभग एक …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: