Breaking News
Home / नगरे / अवध / प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी और डिप्टी सीएम केशव प्रसाद सहित डीजीपी सुलखान सिंह की नज़र फिल्म पद्मावती पर

प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी और डिप्टी सीएम केशव प्रसाद सहित डीजीपी सुलखान सिंह की नज़र फिल्म पद्मावती पर

  • श्री न्यूज़|लखनऊ|यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि विरोध करने वालों को पद्मावती फिल्म दिखाई जाए। ऐतिहासिक तथ्यों के साथ खिलवाड़ सही नहीं है। निर्माता विरोध करने वालों को फिल्म नहीं दिखा रहे हैं। इसलिए लगता है कि दाल में कुछ काला है।सुबे के मुखिया ने कहा कि सोमवार को निजी चैनल के कार्यक्रम में सवालों के जवाब दे रहे थे।वहीं, उन्होंने अयोध्या मुद्दे पर कहा कि इसमें मध्ययस्थचता कोर्ट के काम में बाधा है। इसका फैसला के कोर्ट के निर्णय के आधार पर ही होगा।वहीं, अक्सर अपने ट्वीट से सरकार के कामकाज पर सवाल उठाने वाले यूपी के पूर्व सीएम अखिलेश यादव पर तंज कसते हुए योगी ने कहा कि हमारी सरकार आने के बाद हमने उन्हें घर बैठे ट्वीट करने का मौका दिया है। उन्होंने कहा कि सपा सरकार परिवारवादी व जातिवादी भ्रष्टाचार में लिप्त थी। इसलिए प्रदेश में गुंडागर्दी का माहौल था। हमने आठ महीने में कानून-व्यवस्थाा में काफी सुधार किया है। सपा सरकार के आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस वे पर उन्होंने कहा कि इसमें बड़े पैमाने पर भ्रष्टाचार हुए हैं उधर उत्तर प्रदेश के डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य ने भी रविवार को फिल्म ‘पद्मावती’ का विरोध किया । उन्होंने कहा, जब तक पद्मावती फिल्म के विवादित हिस्से को नहीं निकाला जाएगा, तब तक हम यूपी में फिल्म को रिलीज होने नहीं देंगे। आपको बता दे की पद्मावती पर जारी विवाद के चलते बीच में फिल्म की रिलीज डेट आगे बढ़ा दी गई है महारानी पद्मावती का जो चरित्र है, उन्होंने अलग प्रकार से स्थान बनाने का काम किया। उन्होंने मुगलों के आधीन होने की जगह और अपने को समर्पित करने की जगह अपने स्त्रित्व की रक्षा के लिए जौहर कर ज्वाला में जलीं। मैं उनको नमन करता हूं।”मनोरंजन कर उत्तर प्रदेश मंत्री मैं तब तक यहां पर फिल्म को प्रदर्शित करने की अनुमति नहीं दूंगा। जब तक यूपी के अंदर प्रदर्शन करने से पहले उस फिल्म में से वह विवादित अंश निकाल कर बाहर नहीं कर दिया जाएगा।’केशव प्रसाद मौर्य ने कहा, ”मैंने स्पष्ट तौर से कहा है की जब तक पद्मावती में से विवादित अंश को नहीं निकाला जाएगा, उसे यूपी में प्रदर्शन की अनुमति‍ नहीं दी जाएगी।”- बता दें, दीपिका पादुकोण, शाहिद कपूर और रणवीर सिंह स्टारर पद्मावती 1 दिसंबर को रिलीज होने वाली थी, लेकिन विरोध के चलते डेट बढ़ा दी गई है। यह फिल्म डायरेक्टर संजय लीला भंसाली हैं। फिल्म का राजस्थान में करणी सेना, बीजेपी लीडर्स और हिंदूवादी संगठन विरोध कर रहे हैं। उनका आरोप है कि इतिहास से छेड़छाड़ कर फिल्म बनाई जा रही है।राजपूत करणी सेना का मानना है कि इस फिल्म में पद्मिनी और खिलजी के बीच ड्रीम सीक्वेंस फिल्माए जाने से उनकी भावनाओं को ठेस पहुंची है। लिहाजा, फिल्म को रिलीज से पहले राजपूत प्रतिनिधियों को दिखाया जाना चाहिए। हालांकि, भंसाली साफ कर चुके हैं कि ड्रीम सीक्वेंस फिल्म में है ही नहीं।पद्मावती मूवी के रिलीज पर हंगामा होने की आशंका के चलते बुधवार को डीजीपी सुलखान सिंह ने एक इमरजेंसी मीटिंग बुलाई। इस मीटिंग में डीजीपी ने सभी जिले के एसपी-एसएसपी को निर्देश दिए गए कि किसी भी जगह हंगामा होने या फिर बवाल फैलने पर उन उपद्रवियों से सख्ती से निपटा जाए। दो घंटे चली बैठक, अलर्ट जारी…यूपी के सभी आईजी रेंज, एडीजी ज़ोन को भी जिले में निगरानी करने के निर्देश दिए गए हैं। दो घंटे तक चली इस बैठक के दौरान एडीजी एलओ आनंद कुमार, आईजी एलओ समेत कई डीजीपी मुख्यालय के अधिकारी मौजूद रहे। एक दिसम्बर को पूरे देश मे संजय लीला भंसाली की फिल्म पद्मावती रिलीज हो रही है। राजधानी लखनऊ समेत यूपी के बड़े शहरों में बने मल्टीप्लेक्स के बाहर अतिरिक्त फोर्स तैनात की जाएगी। इसको लेकर अतिसंवेदनशील शहरों में अतिरिक्त सुरक्षा बलों को तैनात करने के लिए पीएससी बल भेजा जाएगा। सीधेडीजीपी हेडक्वार्टर से इसकी निगरानी रखी जाएगी। आईजी (एलओ) एचआर शर्मा को मॉनिटरिंग करने के लिए निर्देशित किया गया हैं। रिलीज से एक दिन पहले ही सिनेमाहालों और मल्टीप्लेक्स की सुरक्षा बढ़ा दी जाएगी।

About desh deepak"rahul"

Check Also

नए विद्यार्थियों से नही लिया जाएगा अनाप सनाप शुल्क -उप मुख्यमंत्री डॉ दिनेश शर्मा

श्रीन्यूज।लखनऊ।उत्तर प्रदेश सरकार के उप मुख्यमंत्री डॉक्टर दिनेश शर्मा जी ने पत्रकारों को संबोधित करते …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: