राजस्थान विधानसभा चुनाव : प्रचार थमा

[Updated on Nov 29 2013 10:02PM]

जयपुर (एसएनएन) : राजस्थान में विधानसभा चुनाव प्रचार पर ब्रेक लग गया है. इसके साथ ही चुनावी सभा, बैठक व अन्य प्रचार की गतिविधियों पर भी रोक लग गई है. प्रचार थमने के साथ ही मतदाताओं को लुभाने की रणनीति शुरू हो गई है. पार्टियों और प्रत्याशियों का जोर पूरी तरह से जनसंपर्क पर है. प्रचार पर ब्रेक लगने के बाद एसएमएस अथवा मोबाइल फोन के जरिए भी चुनाव प्रचार करना दंडनीय होगा.  

राजस्थान में 199 विधानसभा सीटों के लिए मतदान 1 दिसम्बर को होगा जबकि चूरू विधानसभा के लिए मतदान 13 दिसंबर को होगा. चुनाव आयोग का कहना है कि चुनाव की सारी तैयारियां पूरी कर ली गई है.

मतदाता सूची में नाम होना अनिवार्य

मतदान करने के लिए मतदाता का नाम मतदाता सूची में होना पहली अनिवार्यता है. राज्य में 99.72 फीसदी मतदाताओं को मतदाता पहचान पत्र बांटे जा चुके हैं. राज्य में पहली बार मतदाताओं को मतदाता पर्ची का वितरण भी उनके घर जाकर किया गया है. जिन मतदाताओं के पास मतदाता फोटो पहचान पत्र नहीं हैं, वे अपनी पहचान मतदाता पर्ची के माध्यम से करा सकते हैं.

चुनाव की तैयारियां पूरी : चुनाव आयोग

राज्य चुनाव आयुक्त अशोक जैन ने बताया कि चुनाव की सभी तैयारियां पूरी कर ली गई हैं. शांतिपूर्ण तरह से चुनाव संपन्न हो इसके लिए केन्द्रीय रिजर्व सुरक्षा बल, आरएसी, होमगार्ड और स्थानीय पुलिस को तैनात किया गया है. 200 विधानसभा सीटों पर 282 पर्यवेक्षकों की नियुक्ति की गई हैं, साथ ही प्रत्येक विधानसभा क्षेत्र में तीन उड़नदस्ते और तीन निगरानी दल भी बनाए गए हैं. वहीं शिकायतों के लिए पुलिस मुख्यालय में विशेष कंट्रोल रूम बनाया गया है.

संबंधित खबरें

'सीडी' के चलते मुझे फंसाया गया:प्रदीप शर्मा

MP में चुनाव प्रचार खत्म,कल मतदान

मोदी बनवाएंगे राम मंदिर: VHP

मुश्किल में मोदी,शर्मा पहुंचे सुप्रीम कोर्ट

पद्मश्री अवॉर्ड जूते की नोंक पर: कुमार विश्वास

कभी भी हो सकती है तेजपाल की गिरफ्तारी

खबरों का लगातार अपडेट जानने के लिए आप हमें Facebook पर ज्वॉइन करें. आप हमें Twitter पर भी फॉलो कर सकते हैं.

 

 

 


Advertisement